Beete Huye Lamhon Ki Kasak Lyrics – Mahendra Kapoor, Nikaah 1982

0
316
Beete -Huye-Lamhon -Ki-Kasak

Song Title: Beete Huye Lamhon Ki Kasak Saath To Hogi
Movie: Nikaah
Singer: Mahendra Kapoor
Music: Ravi
Lyrics: Hassan Kamaal
Year: 1982

English Lyrics

https://www.youtube.com/watch?v=qRtqYUzuFLA

Beete Hue Lamhon Ki Kasak Saath To Hogi Lyrics
Abhi alawida mat kaho doston
N jaane kaha fir mulaakaat ho

Bite huye lamahon ki kasak saath to hogi
Khwaabon hi men ho chaahe, mulaakaat to hogi

Ye pyaar men dubi hui rngin fajaayen
Ye chehare, ye najre, ye jawaan rut, ye hawaayen
Ham jaaye kahi in ki mahak saath to hogi

Fulon ki tarah dil men basaaye huye rakhana
Yaadon ke charaagon ko jalaaye huye rakhana
Lnba hai safr is men kahi raat to hogi

Ye saath gujaare huye lamahaat ki daulat
Jajbaat ki daulat ye khyaalaat ki daulat
Kuchh paas n ho paas ye saugaat to hogi

Hindi Lyrics

अभी अलविदा मत कहो दोस्तों
न जाने कहा फिर मुलाकात हो
न जाने कहा फिर मुलाकात हो
क्यूंकि
बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी
बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी


ख्वाबों ही में हो चाहे, मुलाकात तो होगी
बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी
ख्वाबों ही में हो चाहे, मुलाकात तो होगी
बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी


ये प्यार में डूबी हुई रंगीन फजायें
ये प्यार में डूबी हुई रंगीन फजायें
ये चेहरे, ये नज़रे, ये जवां रुत, ये हवायें
हम जाये कही इन की महक साथ तो होगी
हम जाये कही इन की महक साथ तो होगी


बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी
ख्वाबों ही में हो चाहे, मुलाकात तो होगी
फूलों की तरह दिल में बसाये हुये रखना
फूलों की तरह दिल में बसाये हुये रखना


यादों के चरागों को जलाये हुये रखना
लंबा हैं सफ़र इस में कही रात तो होगी
लंबा हैं सफ़र इस में कही रात तो होगी
ख्वाबों ही में हो चाहे, मुलाकात तो होगी


बीते हुये लमहों की कसक साथ तो होगी
ये साथ गुज़ारे हुये, लमहात की दौलत
ये साथ गुज़ारे हुये, लमहात की दौलत
जज़बात की दौलत ये ख़यालात की दौलत
कुछ पास ना हो पास ये सौगात तो होगी
कुछ पास ना हो पास ये सौगात तो होगी

Leave a Reply