Mumma Ki Parchai Lyrics – Amit Trivedi 2018

0
186

Song Title: Mumma Ki Parchai Lyrics
Singer: Ronit Sarkar
Lyrics: Swanand Kirkire
Music: Amit Trivedi
Music Label: Eros

English Lyrics 

Haan main jahaan bhi jaaun
woh mere piche piche piche piche aayi
facebook pe pehla like bani
ha..


playlist me loriya ghusayi
meri fifa wali team main
meri mumma kahaan se aayi
mere play station ki screen pe


meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai
ho meri mumma ki parchai

meri mumma ki parchai
ho.. meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai..
ho din ho ya ho raat ho


inka har pal melodrama
aadhi raat ko mere room ke
avein gasht lagaana


blanket odhaane ke naam pe
meri saanse soonghne aana
kapde dhone ki aad mein


meri jeb ki checking karte hi jaana ho..
mere kamre mein chupke se
koi ladki to nahi aayi


blackmailing expert hai jhatt se
aankh me aansu laai, ho..
mere twitter par bhi trend kare


meri mumma ki parchai
mere life me bas extend kare


meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai
ho meri mumma ki parcha


meri mumma ki parchai
ho… meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai


main restaurant mein khaaun
yeh bole khaao ghar ke khaana
main ghar pe chill karun to


ye chaahe kahin bahar jana
bete se zyada pyara hai
inko koi dabba purana


tum aao na aao ghar wapas
mera dabba laana zaroor..
inki court inke hi favour mein sunwaai
jab chaahe meri dost bani


warna amma bann ghurrai ho…
mere kehne pe bhi na bend kare
meri mumma ki parchai
mere life mein permanent rahe


meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai
ho meri mumma ki parchai


meri mumma ki parchai
ho.. meri mumma ki parchai
meri mumma ki parchai

Hindi Lyrics 

हाँ मैं जहां भी जाऊं
वो मेरे पीछे पीछे पीछे पीछे आई
फेसबुक पे पहला लाइक बनी
हाँ..
प्लेलिस्ट में लोरिया घुसाई
मेरी फीफा वाली टीम में
मेरी मम्मा कहाँ से आई
मेरे प्ले स्टेशन की स्क्रीन पर
मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई
हो मेरी मम्मा की परछाई


मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई
हो मेरी मम्मा की परछाई


मेरी मम्मा की परछाई
हो.. मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई..
हो दिन हो या हो रात हो


इनका हर पल मेलोड्रामा
आधी रात को मेरे रूम के
एवें गश्त लगाना
ब्लैंकेट ओढाने के नाम पे


मेरी साँसे सूंघने आना
कपड़े धोने की आड़ में
मेरी जेब की चेकिंग करते ही जाना हो..


मेरी कमरे में चुपके से
कोई लड़की तो नहीं आई
ब्लैकमैलिंग एक्सपर्ट है झट से
आँख में आंसू लायी, हो..


मेरे ट्विटर पर भी ट्रेंड करे
मेरी मम्मा की परछाई


मेरे लाइफ में बस एक्सटेंड करे
मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई


हो मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई
हो.. मेरी मम्मा की परछाई


मेरी मम्मा की परछाई
मैं रेस्टोरेंट में खाऊं
ये बोले खाओ घर का खाना

मैं घर पे चिल्ल करूँ तो
ये चाहे कहीं बहार जाना


बेटे से ज्यादा प्यारा है
इनको कोई डब्बा पुराना
तुम आओ ना आओ घर वापस


मेरा डब्बा लाना ज़रूर..
इनकी कोर्ट इनके ही favour में सुनवाई
जब चाहे मेरी दोस्त बनी


वरना अम्मा बन घुर्राए हो..
मेरे कहने पे बिना बेंड करे
मेरी मम्मा की परछाई


मेरे लाइफ में परमानेंट रहे
मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई


हो मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई
हो.. मेरी मम्मा की परछाई
मेरी मम्मा की परछाई

Leave a Reply