TE3N – Grahan lyrics 2016

0
153
grahan

Movie: TE3N (2016)
Song Title: Grahan Lyrics
Singers: Vishal Dadlani
Song Lyricists: Amitabh Bhattacharya
Music Composer: Clinton Cerejo
Music Director: Clinton Cerejo
Music Label: T-Series

English Lyrics

Khushi ke jalte sooraj ko
Sukoon ke ujhale ghumbaj ko
Boori nazron ka nighal gaya grahan
Asar thi uski saazish mein
Jo saiyaron ki gardish mein
Zaher ki tarha thaher gaya grahan

Khushi ke jalte sooraj ko
Sukoon ke ujhale ghumbaj ko
Boori nazron ka nighal gaya grahan
Woh aafat hi kuch aisi thi
Ki fitrat dhi-makh jaisi thi
Jo til til karke utar gaya grahan

Nazron ki aage dhvandh hai
Sab darwaze bandh hai
Jootha lage har dilasa
Haaf rahi aawaaz hai
Parde ke peechhe raaz hai
Hota nahi kyun khulasa

Muskurahat sehmi hai
Gham ki gehma ghemi hai
Duaaen saari nikali kebewafa
Raat katati karvat mein
Aansu chhupake silvat mein


Subaah ki kirane bhi lagti hai khafa
Qayamat bhar ke daaman mein
Kisi ke ghar ke aangan mein
Keher ki tarha utar gaya grahan

Nazron ki aage dhvandh hai
Sab darwaze bandh hai
Jootha lage har dilasa
Parde ke peechhe raaz hai
Hota nahi kyun khulasa..

Hindi Lyrics

ख़ुशी के जलते सूरज को
सुकून के उझले गुम्बज को
बुरी नज़रों का निगल गया ग्रहण
असार थी उसकी साज़िश में
जो शेयरों की गर्दिश में
ज़हर की तरह ठहर गया ग्रहण

ख़ुशी के जलते सूरज को
सुकून के उझले गुम्बज को
बुरी नज़रों का निगल गया ग्रहण
वह आफत ही कुछ ऐसी थी
की फितरत दही-मख जैसी थी
जो तिल तिल करके उतर गया ग्रहण

नज़रों की आगे ध्वन्ध है
सब दरवाज़े बंद है
जूठा लगे हर दिलासा
हाफ रही आवाज़ है
परदे के पीछे राज़ है
होता नहीं क्यों खुलासा

मुस्कराहट सहमी है
ग़म की गहमा गहमी है
दुआएं साड़ी निकली केबेवफा
रात कटती करवट में


आँसू छुपाके सिलवट में
सुबह की किरणे भी लगती है खफा
क़यामत भर के दामन में
किसी के घर के आँगन में
केहेर की तरह उतर गया ग्रहण

नज़रों की आगे ध्वन्ध है
सब दरवाज़े बंद है
जूठा लगे हर दिलासा
परदे के पीछे राज़ है
होता नहीं क्यों खुलासा..

Leave a Reply