Jag Ghoomeya Lyrics – Sultan 2016

0
298
jag-ghumiya-lyrics-sultan-song

Song Title: Jag Ghumiya Lyrics
Movie: Sultan (2016)
Singer: Rahat Fateh Ali Khan
Lyrics: Irshad Kamil
Music: Vishal-Shekhar
Music Label: YRF Music

English Lyrics

O…
Na wo akhiyan ruhani kahin
Na wo chehra noorani kahin
Kahin dil wali baatein bhi na
Na wo sajri jawani kahin
Jag ghoomeya thaare jaisa na koi (x2)


Na toh hansna rumaani kahin
Na toh khushboo suhani kahin
Na woh rangli adayein dekhin
Na woh pyari si nadani kahin
Jaisi tu hai waisi rehna
Jag ghumeya thaare jaisa na koi (x4)


Baarishon ke mausamon ki bheegi hariyali tu
Sardiyon mein gaalon pe jo aati hai wo lali tu
Raaton ka sukoon..
Raaton ka sukoon bhi hai
Subah ki azaan hai


Chaahaton ki chaadaron mein maine hai sambhali tu
Kahin agg jaisi jalti hai
Bane barkha ka pani kahin
Kabhi mann jaana chupke se
Yun hi apni chalani kahin
Jaisi tu hai waisi rehna
Jag ghoomeya thaare jaisa na koi (x2)


Apne naseebon mein yaa
Hausle ki baaton mein
Sukhon aur dukhon wali
Saari saugaton mein
Sang tujhe rakhna hai..


Sang tujhe rakhna hai, Tune sang rehna
Meri duniya mein bhi
Mere jazbaaton mein
Teri milti nishani kahin
Jo hai sabko dikhani kahin


Tu toh jaanti hai marke bhi
Mujhe aati hai nibhani kahi
Woh hi karna jo hai kehna
Jag ghoomeya thaare jaisa na koi (x4)

Hindi Lyrics

ओ.. ना वो अखियाँ रूहानी कहीं
ना वो चेहरा नूरानी कहीं
कहीं दिल वाली बातें भी ना
ना वो सजरी जवानी कहीं
जग घूमेया थारे जैसा ना कोई
जग घूमेया थारे जैसा ना कोई


ना तो हंसना रूमानी कहीं
ना तो खुशबू सुहानी कहीं
ना वो रंगली अदाएं देखीं
ना वो प्यारी सी नादानी कहीं
जैसी तू है वैसी रहना


[जग घूमेया थारे जैसा ना कोई
जग घूमेया थारे जैसा ना कोई ] x २
बारिशों के मौसमों की भीगी हरियाली तू
सर्दियों में गालों पे जो आती है वो लाली तू
रातों का सुकून..


रातों का सुकून भी है
सुबह की अज़ान है
चाहतों की चादरों में
मैंने है संभाली तू
कहीं आग जलती है


बने बरखा का पानी कहीं
कभी मन जाना चुपके से
यूँ ही अपनी चलानी कहीं
जैसी तू है वैसी रहना
[जग घूमेया थारे जैसा ना कोई
जग घूमेया थारे जैसा ना कोई ] x २


अपने नसीबों में या
होंसले की बातों में
सुख और दुखों वाली
सारी सौगातों में
संग तुझे रखना है..


संग तुझे रखना है
तूने संग रहना
मेरी दुनिया में भी
मेरे जज्बातों में


तेरी मिलती निशानी कहीं
जो है सबको दिखानी कहीं
तू तो जानती है मरके भी


मुझे आती है निभानी कहीं
वो ही करना जो कहना
[जग घूमेया थारे जैसा ना कोई
जग घूमेया थारे जैसा ना कोई ] x २

Leave a Reply