TUJH MEIN RAB DIKHTA HAI Lyrics – Rab Ne Bana Di Jodi

0
626

Movie: Rab Ne Bana Di Jodi
Year: 2008
Singers: Roop Kumar Rathod & Shreya Ghoshal
Lyrics: Jaideep Sahni
Music: Salim-Sulaiman
Music label: YRF

English Lyrics

Tu hi toh jannat meri, Tu hi mera junoon
Tu hi to mannat meri, Tu hi rooh ka sukoon
Tu hi aakhion ki thandak, tu hi dil ki hai dastak

Aur kuch na janu mein, bas itna hi jaanu
Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu


Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu

Sajdhe sar jukhta hai
Yaara mein kya karu
Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu
Ohhhh hoooo ohh….


Kaisi hai yeh doori, kaisi majboori
Meine nazron se tujhe choo liya
Oh ho ho Kabhi teri khusboo
Kabhi teri baatein

Bin mange yeh jahan pa liya
Tu hi dil ki hai raunak,
Tu hi janmo ki daulat
Aur kuch na janoo

Bas itna hi janoo
Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu


Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu
Sajdhe sar jukhta hai

Yaara mein kya karuo
Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karuo


Vasdi vasdi vasdi, dil di dil vich vasdi
Nasdi nasdi nasdi, dil ro ve te nasdi
Rab Ne… Bana Di Jodi…..haiiiiii

Vasdi vasdi vasdi, dil di dil vich vasdi
Nasdi nasdi nasdi, dil ro ve te nasdi
Cham cham aaye, mujhe tarsaye


Tera saaya ched ke chumta
Oh ho ho… tu jo muskaye
Tu jo sharmaye

Jaise mera hai khuda jhumta
Tu hi meri hai barkat, tu hi meri ibadat
Aur kuch na janu, bas itna hi janu

Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu
Tujh mein rab dikhta hai

Yaara mein kya karu
Sajdhe sar jukhta hai
Yaara mein kya karu

Tujh mein rab dikhta hai
Yaara mein kya karu


Vasdi vasdi vasdi, dil di dil vich vasdi
Nasdi nasdi nasdi, dil ro ve te nasdi
Rab Ne Bana Di Jodi.. haiiiiii

Hindi Lyrics

तू ही तो जन्नत मेरी, तू ही मेरा जूनून
तू ही तो मन्नत मेरी, तू ही रूह का सुकून


तू ही अंखियों की ठंडक, तू ही दिल की है दस्तक
और कुछ ना जानूं मैं, बस इतना ही जानूं


तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ


सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ


कैसी है ये दूरी, कैसी मजबूरी
मैंने नज़रों से तुझे छू लिया
हो हो हो कभी तेरी खुशबू, कभी तेरी बातें


बिन मांगे ये जहाँ पा लिया
तू ही दिल की है रौनक, तू ही जन्मों की दौलत
और कुछ ना जानूं, बस इतना ही जानूं


तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ


सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ..


वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
नसदी नसदी नसदी, दिल रो वे थे नसदी
रब ने बना दी जोड़ी.. हाय…


वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
नसदी नसदी नसदी दिल रो वे थे नसदी


छम छम आयें, मुझे तरसाए
तेरा साया छेड़ के चूमता..


हो हो हो तू जो मुस्काए, तू जो शरमाये
जैसे मेरा है ख़ुदा झूमता..
तू मेरी है बरकत, तू ही मेरी इबादत
और कुछ ना जानूं, बस इतना ही जानूं


तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ..


वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
नसदी नसदी नसदी, दिल रो वे थे नसदी
रब ने बना दी जोड़ी.. हाय…

ना कुछ पूछा, ना कुछ माँगा
तूने दिल से दिया जो दिया


ना कुछ बोला, ना कुछ तोला
मुस्कुरा के दिया जो दिया
तू ही धूप, तू ही छाया


तू ही अपना पराया
और कुछ ना जानूँ
बस इतना ही जानूँ
तुझमें रब दिखता है
यारा मैं क्या करूँ


सजदे सर झुकता है
यारा मैं क्या करूँ
रब ने बना दी जोड़ी

Leave a Reply