Taare Zameen Par Title Song Lyrics-2007

0
414

Song Title: Tare Zameen Par title song
Movie: Taare Zameen Par
Singer: Shankar Mahadevan, Bugs Bhargava, vivinenne Pocha
Lyrics: Parsoon Joshi
Composer: Shankar-Ehshan-Loy
Star Cast: Aamir Khan, Darsheel Safary, Tisca Chopra, Vipin Sharma
Year: 2007
Label-T-Series

English Lyrics

Dekho Inhein Yeh Hai Onss Ki Boodein
Patto Ki Goodh Mein Aasamaan Se Khude
Angdai Le Phir Karwat Badal Kar

Nazuk Se Moti Hasde Phishal Kar
Kho Na Jayee Yeh
Taare Zameen Par

Yeh Toh Hai Sardi Mein
Dhoop Ki Kirane
Uthre Jo Aangan Ko Sunehara Sa Karne
Maan Ke Andhero Ko Roshan Sa Karde

Thiturti Hatheli Ki Rangat Badal De
Kho Na Jayee Yeh
Taare Zameen Par

Jaise Aankhon Ki Debiyan Mein Neediyan
Aur Neediyan Mein Meetha Sa Sapna
Aur Sapne Mein Mil Jaye Faristha Sa Koi

Jaise Rango Bhari Peechkari
Jaise Thitliyan Phoolo Ki Pyari
Jaise Bina Matlab Ka Pyaara Rista Ho Koi

Yeh To Asha Ki Lehra Hai
Yeh To Umeed Ki Seher Hai
Khushiyon Ki Nehar Hai

Kho Na Jaye Yeh
Taare Zameen Par

Dekho Raaton Ke Sene Pe Yeh To
Jhil Mil Kisi Lao Se Uge Hain
Yeh To Andiyan Ke Khushbo Hai Bhago Se Beh Chale

Jaise Kaanch Mein Chudi Ke Tukde
Jaise Khile Khile Phoolon Ke Mukhde
Jaise Bansi Koi Bajaye Pedo Ke Taale

Yeh To Jhoke Hai Pawan Ke
Hai Yeh Gungroo Jeevan Ke

Yeh To Sur Hai Chaman Ke
Kho Na Jayeee
Taare Zameen Par

Mohale Ki Ronak Galiyan Hai Jaise
Khilne Ki Zid Per Kaliyan Hai Jaise
Muthi Mein Masam Ki Jaise Hawaein
Yeh Hai Buzurgo Ke Dil Ki Duyaaein

Kho Na Jayeee
Taare Zameen Par
Taare Zameen Par

Kabhi Baatein Jaise Dadi Naani
Kabhi Chale Jaise Num Num Pani


Kabhi Ban Jaye Bhole Saawalo Ki Jhadi
Sanate Mein Hasi Ke Jaise
Sune Hoton Pe Khushi Ke Jaise

Yeh To Noor Hai Barse Gar Pe Kismat Ho Padi
Jaise Jhil Mein Lehar Aye Chanda


Jaise Bheed Mein Apne Ka Kandha
Jaise Manmauji Nadiya

Jhaag Udaye Kuch Kahe
Jaise Baithe Baithe Meethi Si Jhapki
Jaise Pyar Ki Dheemi Si Thapki

Jaise Kaanon Mein Sargam
Hardam Bajti Hi Rahe
Jaise Barkha Udati Hai Bundiya…

Kho Na Jaaayeeee Yehhhh
Kho Na Jaayee Yehh
Kho Na Jaayee Yehh
Kho Na Jaayee Yehhhh..

Hindi Lyrics

देखो इन्हें ये हैं ओस की बूँदें
पत्तों की गोद में आसमां से कूदें

अंगड़ाई लें फिर करवट बदल कर
नाज़ुक से मोती हंस दें फिसल कर
खो ना जाएँ ये.. तारे ज़मीं पर


ये तो है सर्दी में धूप की किरणें
उतरें जो आँगन को सुनहरा सा करने

मन के अंधेरों को रोशन सा कर दें
ठिठुरती हथेली की रंगत बदल दें
खो ना जाएँ ये.. तारे ज़मीं पर
जैसे आँखों की डिबिया में निंदिया


और निंदिया में मीठा सा सपना
और सपने में मिल जाए फरिश्ता सा कोई
जैसे रंगों भरी पिचकारी
जैसे तितलियाँ फूलों की क्यारी
जैसे बिना मतलब का प्यारा रिश्ता हो कोई

ये तो आशा की लहर है
ये तो उम्मीद की सहर है
खुशियों की नहर है
खो ना जाएँ ये.. तारे ज़मीं पर

आ.. देखो रातों के सीने पे ये तो
झिलमिल किसी लौ से उगे हैं
ये तो अंबियो की खुश्बू हैं
बागों से बह चले


जैसे काँच में चूड़ी के टुकड़े
जैसे खिले खिले फूलों के मुखड़े
जैसे बंसी कोई बजाए पेड़ों के तले

ये तो झोंके हैं पवन के
हैं ये घुंघरू जीवन के

ये तो सुर हैं चमन के
खो ना जाएँ ये.. तारे ज़मीं पर
मुहल्ले की रौनक, गलियाँ हैं जैसे
खिलने की ज़िद पर, कलियाँ हैं जैसे

मुट्ठी में मौसम की जैसे हवायें
ये हैं बुज़ुर्गों के दिल की दुआएं
खो ना जाएँ ये.. तारे ज़मीं पर
तारे ज़मीं पर

कभी बातें जैसे दादी नानी
कभी चले जैसे मम मम पानी
कभी बन जाएँ भोले सवालों की झड़ी
[खो ना जाएँ ये.. ]

सन्नाटे में हँसी के जैसे
सूने होठों पे खुशी के जैसे
ये तो नूर हैं बरसे गर
तेरी किस्मत हो बड़ी
[खो ना जाएँ ये.. ]

जैसे झील में लहराए चंदा
जैसे भीड़ में अपने का कंधा
जैसे मनमौजी नदिया
झाग उड़ाए कुछ कहे

जैसे बैठे बैठे मीठी सी झपकी
जैसे प्यार की धीमी सी थपकी
जैसे कानों में सरगम
हरदम बजती ही रहे

[हो..]
जैसे बरखा उडाती है निंदिया..
खो ना जाएँ ये..खो ना जाएँ ये..

Leave a Reply