Sooraj Ki Baahon Mein Lyrics – Zindagi Na Milegi Dobara 2011

0
397
Sooraj-Ki-Baahon-Mein

Movie: Zindagi Na Milegi Dobara
Song Title: Sooraj Ki Baahon Mein Lyrics
Music Director: Shankar Mahadevan, Ehsaan Noorani, Loy Mendonca
Lyricist: Javed Akhtar
Singer(s): Dominique Cerejo, Clinton Cerejo, Loy Mendonca

English Lyrics

Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi


Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Jo bhi badali
Dil ki taal hai
Ahan..
Yuhin hi aaya
Ik khayal hai
Ahan..


Paate hai hum hai
Zindagi ek baar
Kyun na kare khulke
Hum isko pyar
Jane kiska hai
Hume intezar


Kis noodh ki
Yahi hai aur yahi
Jo bhi kal tak
bus tha aarzo
Aahon mein
Woh hi paa gaye hai

Main aur tu
Baahon mein
Thame ab haathon mein
Yuhin haath
Shehar milke ghoomenge
Saath saath
saare saare din


Saari saari raat
Daras rahi hai
ek khushi har kahin
Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni


Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Naye naye sapne
Jo bun sake
Usi zindagi ko


Kahoon zindagi
Naye naye raste
Jo chun sake
Usi zindagi ko
Kahoon zindagi
Har pal machalti ho


Jhoom ke chalti ho
woh hai zindagi
Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni


Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Paate hai hum hai
Zindagi ek baar


Kyun na kare khulke
Hum isko pyar
Jane kiska hai
Hume intezar
Kis noodh ki
Yahi hai aur yahi


Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Sooraj ki baahon mein
Ab hai yeh zindagi


Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni
Sooraj ki..
Ab hai..
Kiraney hai saanson mein
Baaton mein roshni

Hindi Lyrics

सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
जो भी बदली दिल की ताल है, आहा
यूँही ही आया एक ख़याल है, आहा


पाते हम है ज़िंदगी एक बार
क्यूँ ना करे खुलके हम इसको प्यार
जाने किसका है हमें इंतेज़ार
के ज़िंदगी यही है और यही
जो भी कल तक बस आरज़ू , आहा
वो ही पा गये हैं मैं और तू, आहा


थामे हम हाथों में यूँही हाथ
शहर दिल में घूमेंगे साथ साथ
सारे सारे दिन सारी सारी रात
बरस रही है एक खुशी हर कहीं
सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी


सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
नये नये सपने जो बुन सके
उसी ज़िंदगी को कहो ज़िंदगी
नये नये रस्ते जो चुन सके
उसी ज़िंदगी को कहो ज़िंदगी


पल पल मचलती हो झूम के चलती हो वो है ज़िंदगी
सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी


पाते हम है ज़िंदगी एक बार
क्यूँ ना करे खुलके हम इसको प्यार
जाने किसका है हमें इंतेज़ार
के ज़िंदगी यही है और यही


सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
सूरज की बाहों में, अब है यह ज़िंदगी
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी


सूरज की, अब है यह
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी
सूरज की, अब है यह
किरणे हैं साँसों में, बातों में रोशनी

Leave a Reply