Aankhein Khuli Ho Ya Ho Band Lyrics | Mohabbatein 2000

0
533

Aankhein Khuli Ho Ya Ho Band Lyrics
Movie: Mohabbatein(2000)
composed : Jatin-Lalit
singer: Lata Mangeshkar, Udit Narayan, Shweta Pandit, Sonali Bhatawdekar, Pritha Mazumdar, Udhbav, Manohar Shetty, Shah Rukh Khan, Ishaan,
Lyrics: Anand Bakshi
Amitabh Bachchan, Shahrukh Khan, Aishwarya Rai, Star Cast: Uday Chopra, Jugal Hansraj, Jimmy Shergill, Shamita Shetty, Kim Sharma, Preeti Jhangiani
Music label: YRF

English Lyrics

Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho
Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho

Zindagi Khafa Khafa Aur Tum Dil Lagane Ki Baat Karthe Ho
Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho

Mere Haalat Aisi Hai Ki Main Kuch Kar Nahin Sakta
Mere Haalat Aisi Hai Ki Main Kuch Kar Nahin Sakta
Tadapta Hai Yeh Dil Lekin Yeh Aahen Bhar Nahin Sakta
Zakhm Hai Hara Hara Aur Tum Chot Khaane Ki Baat Karte Ho

Zindagi Khafa Khafa Aur Tum Dil Lagane Ki Baat Karthe Ho
Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho

Zamane Mein Bhala Kaise Mohabbat Log Karte Hai
Zamane Mein Bhala Kaise Mohabbat Log Karte Hai
Wafa Ke Naam Ki Ab To Shikayat Log Karte Hai

Aag Hai Buji Buji Aur Tum Lau Jalane Ki Baat Karte Ho
Zindagi Khafa Khafa Aur Tum Dil Lagane Ki Baat Karthe Ho
Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho

Kabhi Jo Khwaab Dekha To Mili Parchiyaan Mujhko
Kabhi Jo Khwaab Dekha To Mili Parchiyaan Mujhko
Muhje Mehfil Ki Khwaaish Thi Mili Tanhaaiyan Mujhko
Har Taraf Dua Dua Aur Tum Aashiyaane Ki Baat Karthe Ho

Zindagi Khafa Khafa Aur Tum Dil Lagane Ki Baat Karthe Ho
Aankh Hain Bhari Bhari Aur Tum Muskurane Ki Baat Karte Ho.

Hindi Lyrics

इक लड़की थी दीवानी सी, एक लड़के पे वो मरती थी नजरें झुकाके शर्माके गलियों से गुजरती थी। चोरी चोरी चुपके चुपके चिठ्ठियाँ


लिखा करती थी, कुछ कहना था शायद उसको, जाने किससे डरती

थी, जब भी मिलती थी मुझसे, मुझसे पूछा करती थी प्यार कैसे होता है ? ये प्यार कैसे होता है ? और मैं सिर्फ यही कह पता था..
आँखें खुली हों या हो बंद
दीदार उनका होता है


कैसे कहूँ मैं ओ यारा
ये प्यार कैसे होता है

तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु हे
[आँखें खुली हो या हो बंद
दीदार उनका होता है] x 2


कैसे कहूँ मैं ओ यारा
ये प्यार कैसे होता है

तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
आँखें खुली हो या हो बंद


दीदार उनका होता है
कैसे कहूँ मैं ओ यारा

ये प्यार कैसे होता है
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
आज ही यारों किसी पे मरके देखेंगे हम


प्यार होता है ये कैसे कर के देखेंगे हम
किसी की यादों में खोये हुए
ख़ाबों को हम ने सजा लिया

किसी की बाहों में सोए हुए अपना उसे बना लिया
ऐ यार प्यार में कोई तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु


ऐ यार प्यार में कोई ना जगता ना सोता है

कैसे कहूँ मैं ओ यारा ये प्यार कैसे होता है
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु


क्या है जादू है कोई, बस जो चल जाता है
तोड़ के पहरे हजारों, दिल निकल जाता है

दूर कहीं आसमानों पर, होते हैं ये सारे फैसले
कौन जाने कोई हमसफ़र, कब कैसे कहाँ मिले

जो नाम दिल पे हो लिखा तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
जो नाम दिल पे हो लिखा इकरार उसी से होता है
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
[आँखें खुली हो या हो बंद


दीदार उनका होता है] x 2
कैसे कहूँ मैं ओ यारा
ये प्यार कैसे होता है

तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु
तू रु रु रु रु तू रु रु रु रु

Leave a Reply