Wo Aankh Hi Kya Teri Surat Nahi Jisme ,Khuddar, Kumar Sanu, Alka Yagnik, Zameer Kazmi, Anu Malik, 1994

0
226

Song Title: Tumsa koi pyaara Lyrics
Movie: Khuddar
Singers: Kumar Sanu, Alka Yagnik
Lyrics: Anand Bakshi
Music: Anu Malik
Music Label: Tips Music
Year: 1994

English Lyrics

Aa aa..
barsat ka mosam yahah hum yahan tum
sajni ko mil gaye sajan sajan sajan
tumsa koi pyara koi masoom nahi hai


kya cheez ho tum khud tumhein malum nahi hai
lakho hai magar tumsa yahan kaun hansi hai
tum jaan ho meri tumhe malum nahi
tumsa koi pyara koi masum nahi hai


kya cheez ho tum khud tumhe malum nahi hai
lakho hai magar tumsa yaha kaun hasi hai
tum jaan ho meri tumhe malum nahi
tumsa koi pyara koi masum nahi hai
kya cheez ho khud tumhe malum nahi hai
tumsa koi pyara koi masum nahi hai



kya cheez ho tum khud tumhe malum nahi hai
sau phool khile jab ye khila roop sunhara
sau chand bane jab ye bana chand sa chehra
ho.. sau phool khile jab ye khila roop sunhara
sau chand bane jab ye bana chand sa chehra


itna bhi koi pyar ki raho mein na gum ho
bas hosh hai itna mere sath mein tum ho
mere sath mein tum ho, mere sath mein tum ho
hmm.. dhadkan hai kahi dil hai kahi jan kahi hai
tum jaan ho meri tumhein malum nahi hai
ye chandani in ankho ka saya to nahi hai


kya cheez ho khud tumhein malum nahi hai
tumsa koi pyara koi masum nahi hai
kya cheez ho tum khud tumhein malum nahi hai
tumsa koi pyara koi masum nahi hai
kya cheez ho tum khud tumhein malum nahi hai
ye hoth ye palke ye nighahe ye adaye


mil jaye khuda mujhko to main le loo balaye
ho.. ye hoth ye palke ye nighahe ye adaye
mil jaye khuda mujhko to main le loo balaye
duniya ka koi bhi gum mere pass na hoga


tum sath mein chaloge to ye ahsas na hoga
ye ahsas na hoga, ye ahsas na hoga
hmm.. akash hai hamare pairo mein ke jami hai
tum jaan ho meri tumhe malum nahi


aisa koi mehbub jamane mein nahi hai
kya cheez ho tum khud tumhe malum nahi hai
lakho hai magar tumsa yaha kaun hasi hai
tum jaan ho meri tumhein malum nahi


tumsa koi pyara koi masum nahi hai
kya cheez ho khud tumhe malum nahi hai

Hindi Lyrics

आ आ..
बरसात का मौसम यहाँ हम यहाँ तुम
सजनी को मिल गए
साजन साजन साजन


(तुमसा कोई प्यारा कोई मासूम नहीं है
क्या चीज़ हो तुम
खुद तुम्हें मालूम नहीं है
लाखो है मगर तुमसे यहाँ
कौन हसीं है तुम जान हो
मेरी तुम्हें मालूम नहीं) x 2


(तुमसा कोई प्यारा कोई मासूम नहीं है
क्या चीज़ हो तुम खुद तुम्हें मालूम नहीं है) x 2
सौ फूल खिले जब ये खिला रूप सुनहरा
सौ चाँद बने जब ये बात चाँद सा चेहरा
हो.. सौ फूल खिले जब ये खिला रूप सुनहरा


सौ चाँद बने जब ये बात चाँद सा चेहरा
इतना भी कोई प्यार की राहों में ना घूम हो
बस होश है इतना मेरे साथ में तुम हो
मेरे साथ में तुम हो, मेरे साथ में तुम हो
हम्म.. धड़कन है कहीं दिल है कहीं जान कहीं है


तुम जान हो मेरी तुम्हें मालूम नहीं है
ये चाँदनी इन आँखों का साया तो नहीं है
क्या चीज़ हो खुद तुम्हें मालूम नहीं है
(तुमसा कोई प्यारा कोई मासूम नहीं है
क्या चीज़ हो तुम खुद तुम्हें मालूम नहीं है) x 2

ये होठ ये पलके ये निगाहे ये अदाएं
मिल जाए खुदा मुझको तो मैं ले लूं बलाए
हो.. ये होठ ये पलके ये निगाहे ये अदाएं
मिल जाए खुदा मुझको तो मैं ले लूं बलाए


दुनिया का कोई भी ग़म मेरे पास न होगा
तुम साथ में चलोगे तो ये एहसास न होगा
एहसास न होगा, एहसास न होगा


हम्म.. आकाश है पैरों में हमारे के ज़मीन है
तुम जान हो मेरी तुम्हें मालूम नहीं
ऐसा कोई महबूब ज़माने में नहीं है
क्या चीज़ हो तुम खुद तुम्हें मालूम नहीं है


लाखो है मगर तुमसे यहाँ कौन हंसी है
तुम जान हो मेरी तुम्हें मालूम नहीं
तुमसा कोई प्यारा कोई मासुम नहीं है
क्या चीज़ हो खुद तुम्हें मालूम नहीं है

Leave a Reply