Tu Pyar Hai Kisi Aur Ka Lyrics- Dil Hai Ki Manta Nahi (1991)

0
95
TU_PYAR_HAI_KISI_AUR_ 1991 IMAGES

Shopping Offers

Up to 40% OFF on Mobiles & Accessories
Up to 50% OFF on Consumer Electronics
Up to 80% OFF on Fashion
30%- 75% OFF on Home & Kitchen
Up to 70% OFF on Daily Essentials
Up to 60% OFF on TVs & Large Appliances
Up to 70% OFF on Books, Entertainment & more

Song Title: Tu Pyar Hai Kisi Aur Ka
Movie: Dil Hai Ki Manta Nahi (1991)
Singer: Kumar Sanu and Anuradha Paudwal
Lyrics: Sameer
Composer: Nadeem-Shravan
Music label: T-Series

English Lyrics

Too pyaar hain kisee aaur kaa
Tuze chaahataa koee aaur hain
Too pasand hain kisee aaur kee
Tuze maangataa koee aaur hain

Kaun apanaa hai
Kyaa begaanaa hai
Kyaa hakeekat hai
Kyaa fasaanaa hain
Ye jamaane mein kisane jaanaa hain
Too najar mein hain kisee aaur kee
Tuze dekhataa koee aaur hain

Pyaar mein aksar ayesaa hotaa hain
Koee hasataa hai
Koee rotaa hain
Koee paataa hain
Koee khotaa hain
Too jaan hain kisee aaur kee
Tuze jaanataa koee aaur hain

Sochatee hoo main
Choop rahoo kaise
Dard dil kaa ye main sahoo kaise
Kashmakash mein hoo
Ye kahoo kaise
Meraa humasafar bas yek too
Naheen doosaraa koee aaur hain

Hindi Lyrics

ला ला ला ला ला.. हम्म..
हो.. ला ला ला ला ला.. हम्म..
[तू प्यार है किसी और का
तुझे चाहता कोई और है ] x 2


तू पसन्द है किसी और की
तू पसन्द है किसी और की
तुझे मांगता कोई और है
तू प्यार है किसी और का
तुझे चाहता कोई और है
[कौन अपना है, क्या बेगाना है
क्या हक़ीक़त है, क्या फ़साना है ] x 2


ये ज़माने में किसने जाना है
ये ज़माने में किसने जाना है

[तू नज़र में है किसी और की
तुझे देखता कोई और है ] x 2
तू पसन्द है किसी और की
तुझे मांगता कोई और है
तू प्यार है किसी और का
तुझे चाहता कोई और है
[प्यार में अक्सर ऐसा होता है
कोई हँसता है, कोई रोता है ] x 2


कोई पाता है, कोई खोता है
कोई पाता है, कोई खोता है
[तू जान है किसी और की
तुझे जानता कोई और है ] x 2


तू पसन्द है किसी और की
तुझे मांगता कोई और है
तू प्यार है किसी और का
तुझे चाहता कोई और है
हम्म आ आ आ..
हम्म.. आ आ आ ला ला.. आ..
[सोचती हूँ मैं, चुप रहूँ कैसे
दर्द दिल का ये मैं सहूँ कैसे ] x 2


कशमकश में हूँ, ये कहूँ कैसे
कशमकश में हूँ, ये कहूँ कैसे
[मेरा हमसफ़र बस एक तू
नहीं दूसरा कोई और है ] x 2


तू पसन्द है किसी और की
तुझे मांगता कोई और है
तू प्यार है किसी और का
तुझे चाहता कोई और है
ल ल ला ला ला ला..
दिल है कि मानता नहीं
अदायें भी हैं

Leave a Reply