Ae Mere Humsafar Lyrics – Qayamat Se Qayamat Tak

0
93
aye-mere-humsafr

Song Title: Ae Mere Humsafar song
Movie: Qayamat Se Qayamat Tak (1988)
Singer: Udit Narayan and Alka Yagnik
Composer: Anand Milind
Lyrics: Majrooh Sultanpuri
Music label: T-Series

English Lyrics

Ae Mere Humsafar Ek Zara Intezaar
Sun Sadaayein De Rahi Hain Manzil Yaar Ki
Ae Mere Humsafar Ek Zara Intezaar
Sun Sadaayein De Rahi Hain Manzil Yaar Ki
Ab Hai Judaai Ka Mausam Do Pal Ka Mehmaan
Kaise Naa Jaayega Ndhera Kyoon Naa Thamega Toofan

Ab Hai Judaai Ka Mausam Do Pal Ka Mehmaan
Kaise Naa Jaayega Andhera Kyoon Naa Thamega Toofan
Kaise Naa Milegi Manzil Pyaar Ki
Ae Mere Humsafar Ek Zara Intezaar
Sun Sadaayein De Rahi Hain Manzil Pyaar Ki

Pyaar Ne Jahan Pe Rakha Hai Jhoomke Kadam Ek Baar
Vahin Se Khula Hai Koi Rasta Vahin Se Giri Hai Deewaar
Pyaar Ne Jahan Pe Rakha Hai Jhoom Ke Kadam Ek Baar
Vahin Se Khula Hai Koi Rasta Vahin Se Giri Hai Deewaar


Roke Kab Ruki Hai Manzil Pyaar Ki
Ae Mere Humsafar Ek Zara Intezaar
Sun Sadaayein De Rahi Hai Manzil Pyaar Ki
Ae Mere Humsafar Ek Zara Intezaar
Sun Sadaayein De Rahi Hai Manzil Pyaar Ki.

Hindi Lyrics

ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की
अब है जुदाई का मौसम
दो पल का मेहमां


कैसे ना जाएगा अंधेरा
क्यूँ ना थमेगा तूफां
अब है जुदाई का मौसम
दो पल का मेहमां
कैसे ना जाएगा अंधेरा
क्यूँ ना थमेगा तूफां


कैसे ना मिलेगी, मंजिल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की
प्यार ने जहाँ पे रखा है
झूम के कदम इक बार
वहीं से खुला है कोई रस्ता


वहीं से गिरी है दीवार
प्यार ने जहाँ पे रखा है
झूम के कदम इक बार
वहीं से खुला है कोई रस्ता


वहीं से गिरी है दीवार
रोके कब रुकी है, मंज़िल प्यार की
ऐ मेरे हमसफ़र, एक ज़रा इन्तज़ार
सुन सदाएं, दे रही हैं, मंज़िल प्यार की

Leave a Reply